विद्युत-चुम्बकीय विज्ञान एवं ऐन्टेना

यह केंद्र ऐन्टेना के अभिकल्प विकास तथा सुपुर्दगी के लिए तैयारशुदा आधार पर परियोजनाएँ लेता है। कुछ विकसित किए गए ऐन्टेना निम्नवत हैं:

  • माइक्रोस्ट्रीप पैच ऐन्टेना
  • हेलिकल ऐन्टेना
  • लॉग आवर्ती द्विध्रुवी व्यूह (रैखिक और द्वैत ध्रुवित )
  • यागी - उदा ऐन्टेना
  • सेलूलर बेस स्टेशन ऐन्टेना
  •  ग्रिड परवलय परावर्तक ऐन्टेना
  • तरंग पथक स्लॉटेड व्यूह ऐन्टेना

 अनुसंधान

  तैयारशुदा परियोजनाओं के अलावा यह केंद्र अनुसंधान एवं विकास करता है और नए ऐन्टेना का विकास करता है। इस पर विकसित कुछ ऐन्टेनाओं में हैं:

  • कॉम्बी-लॉग
  • दूरमिति के लिए वृत्ताकार ध्रुवित वेलनाकार परवलय ऐन्टेना
  • दीर्घवृताकार -परवलय परावर्तक ऐन्टेना
  • स्लीव एकध्रुव
  • निम्न बैंड ऐडप्टर

 ऐन्टेना माप

   ऐन्टेना सुदूर-क्षेत्र रेंज

  इस केंद्र में सुदूर-क्षेत्र ऐन्टेना परीक्षण रेंज है। दो उत्थित टॉवर जो संचरण ऐन्टेना और परीक्षणाधीन ऐन्टेना को सम्भालता है,  दोनों में 150 मीरट की दूरी है। परीक्षणाधीन ऐन्टेना को 360°  दिगंश में में घुमाया जा सकता है। इस परीक्षण रेंज में सुदूर-क्षेत्र विशेषताएँ जैसे कि विकिर्ण पैटर्न, ध्रुवण, लब्धि, अग्र से पश्चय अनुपात और अक्षीय अनुपात का माप हो सकता है।

  निष्क्रिय घटकों का अभिकलक्षण

  यह केंद्र माप जैसे कि निवेशन हानि, वीएसडब्ल्यूआर माप, सूक्ष्मतरंग आवृति (45 MHz - 26.5 GHz) में सह-अक्षीय समुच्चयन के अभिलक्षण हेतु अत्याधुनिक हेवलेट-पैकर्ड नेटवर्क विश्लेषक से सुसज्जित है।  

यह केंद्र सरकारी तथा निजी क्षेत्र को ये सेवाएँ नियमित रूप से देता है।