समीर का ईएमसी प्रभाग- विद्युत -चुम्बकीय विज्ञान केंद्र देश में ईएमसी के क्षेत्र में उत्कृष्ट केंद्र है। यह प्रभाग इलेक्ट्रॉनिक्स /इलेक्ट्रिकल् उद्योगों को सिविल अनुप्रयोग के लिए उनके उत्पादों की गुणवत्ता एवं कार्य निष्पादन में विकास हेतु ईएमसी परीक्षण, संस्थापन, अभिकल्प परामर्श सेवाएं तथा पॉवर कंडिशनर का मूल्यांकन कर देता है। यह प्रभाग ईएमआई/ईएमसी के क्षेत्र में कार्यरत वैज्ञानिको एवं अभियंताओं की सबसे बडी टीमों में से एक है। समयबद्ध तरीके से कम लागत का समाधान प्रदान करने के लिए अभिकल्प परामर्श दल किसी भी जरूरत की चुनौतियों का सामना करता है। ईएमसी द्वारा प्रदत्त सुझाव और दिशा-निर्देश पहले ही पहल स्वीकृति की प्राप्ति में सहायता करते हैं।  

परीक्षण तथा अभिकल्प सेवाओं के लिए यह प्रभाग ISO 9001 प्रमाणित है। यह प्रभाग मानकीकरण एवं संविररचन प्रयोगशाला हेतु राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड (एनएबीएल), कनाडियन स्टैंर्ड एसोसियशन, टी यू वी- रिनलैंड, टी यू वी- सुडडेस्लैंड जैसे विभिन्न ऐजेन्सियों से भी प्रत्यायित है। वाहित तथा विकिर्ण उत्सर्जन माप की परीक्षण सुविधा एफसीसी द्वारा सुचीबद्ध है। 

प्रभाग की अध्यक्षता प्रभागाध्यक्ष करते हैं। ईएमसी प्रभाग में एक कस्टमर केयर सेल (सीसीएल) है। ग्राहकों तथा प्रभाग के बीच तालमेल के लिए इसको एक प्रभारी अधिकारी संभालते हैं।  अभीष्ट सेवाओं में संतुष्टि के लिए ग्राहक की सभी जरूरतों का देखभाल सी सी सी करता है। माप तथा अभिकल्प परामर्श की छह प्रयोगशालाएँ हैं: संविरचन प्रयोगशाला, वाहित चुम्बकीय प्रवृति (सीएस) प्रयोगशाला, वाहित उत्सर्जन (सी ई ) प्रयोगशाला, विकिर्ण उत्सर्जन (आर ई) और विकिर्ण चुम्बकीय प्रवृति (आर एस) प्रयोगशाला तथा खुला क्षेत्र परीक्षण स्थल (ओ ए टी एस). इन प्रयोगशालाओं की कार्यपद्धति की देखरेख प्रयोशशाला- प्रभारी करते हैं। परीक्षण अभियंता प्रभाग की परीक्षण गतिविधियों करते हैं। टीम लीडर अभिकल्प परामर्श गतिविधियों का पर्यवेक्षण करते हैं।  

(क) सदैव परीक्षण/माप और अभिकल्प परामर्श की ऐसी सेवाएँ जो ग्राहकों एवं लागू नियामक अपेक्षाओं को पूरा करती है, (ख) इस प्रणाली के प्रभावी अनुप्रयोग से ग्राहकों की संतुष्टि में संवर्धन, इस प्रणाली में सतत विकास तथा ग्राहकों एवं लागू नियामक अपेक्षओं से सुसंगति का आश्वासन प्रदर्शित करने के लिए ईएमसी प्रभाग में एक गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली है।